ऑपरेशन चक्रव्यूह में लूटपाट, स्नैचिंग व चोरी करने वाले गैंग पांच आरोपी गिरफ्तार - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Thursday, June 4, 2020

ऑपरेशन चक्रव्यूह में लूटपाट, स्नैचिंग व चोरी करने वाले गैंग पांच आरोपी गिरफ्तार

आउटर-नॉर्थ जिला पुलिस ने ऑपरेशन चक्रव्यूह के तहत लूटपाट, स्नैचिंग व चोरी करने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों में 2 नाबालिग है। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान सनाउल्लाह, शफिके और इरशाद उर्फ मोटा के रुप में हुई है। आरोपी सनाउल्लाह और शफिके बवाना के रहने वाले है और दोनों हिस्ट्रीशीटर भी है। आरोपी इरशाद नरेला का रहने वाला है। पुलिस ने बताया कि गैंग के पहले आरोपी को एसीपी नरेला ने गिरफ्तार किया था। पुलिस ने आरोपी के पास से 12 मोबाइल फोन, 1 पिस्टल, 1 कारतूस, 3 बाइक बरामद की है। इनकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस 14 मामले सुलझाने का दावा कर रही है।
डीसीपी गौरव शर्मा ने बताया कि रोबर्स व स्नैचर पकड़ने के लिए आउटर-नॉर्थ जिले में ऑपरेशन चक्र भी चलाया गया। इस दौरान एसीपी नरेला नीरव पांडे ने पूरे इलाके में बाइक पेट्रोलिंग कराई। मंगलवार शाम करीब 5 बजे एसीपी नरेला, हनुमान मंदिर, जेजे कॉलोनी नरेला बवाना रोड पर पिकेट लगाकर वाहनों की जांच कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने एक बाइक को अपनी ओर आते देखा। पुलिस टीम को देखकर चालक ने यू-टर्न लिया और मौके से भागने लगा। इस दौरान पुलिस टीम ने आरोपी का 2 किलोमीटर पीछा कर उसे दबोच लिया।

आरोपी की पहचान सनाउल्लाह के रूप में हुई। पुलिस ने इसके पास से 2 मोबाइल फोन बरामद किए। पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि यह बाइक उसने अपने सहयोगी शफिके के साथ मिलकर नांगलोई से चुराई थी। आगे आरोपी ने बताया कि वह लुटे हुए मोबाइल फोन इरशाद को बेचता था। इसके बाद आरोपियों को पकड़ने के लिए नरेला इंडस्ट्रियल एरिया एसएचओ की देखरेख में एक टीम का गठन किया। इसके बाद टीम ने गुप्त सूचना के बाद आरोपी शफिके को एक नाबालिग के साथ केटीएम बाइक के साथ पकड़ा। पुलिस को इनके पास से भी 2 मोबाइल फोन बरामद हुए।

आरोपी अपनी शादी के लिए जमा कर रहा था रुपए
आरोपी इरशाद हाल ही में जेल से छूट कर वापस आया था। आरोपी इरशाद अपनी शादी के लिए पैसे जमा कर रहा था। इस दौरान आरोपी इरशाद ने सनाउल्लाह और शफिके को मोबाइल फोन लूटने का जिम्मा सौंपा था और खुद ने उन्हें देखने की जिम्मेदारी ली थी। नाबालिग आरोपी गैंग के अन्य आरोपियों को बाइक का इंतजाम कर आते थे और लूटे गए मोबाइल फोनों को अलाउद्दीन के साले को बेचते थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2UdsM37
via IFTTT

No comments:

Post a Comment