किम जोंग की बहन ने दक्षिण कोरिया से कहा- सीमा पार से सरकार विरोधी बलून भेजना बंद करे नहीं तो सैन्य कार्रवाई करेंगे - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Saturday, June 13, 2020

किम जोंग की बहन ने दक्षिण कोरिया से कहा- सीमा पार से सरकार विरोधी बलून भेजना बंद करे नहीं तो सैन्य कार्रवाई करेंगे

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने दक्षिण कोरिया पर सैन्य कार्रवाई की धमकी दी है। किम यो ने दक्षिण कोरिया से सटी सीमा सेसरकार विरोधी पर्चे भेजे जाने पर शनिवार को नाराजगी जाहिर की। प्रदर्शनकारी ये पर्चे बलून में भरकर भेज रहे हैं। किम यो ने कहा कि अगर दक्षिण कोरिया अपने प्रदर्शनकारियों को ऐसा करने से नहीं रोकता है तो मेरी सेना कार्रवाई करेगी।

किम योने कहा कि मैंने सु्प्रीम लीडर, मेरी पार्टी और सरकार से मुझे मिले अधिकारों का इस्तेमाल किया है औरसेना को कार्रवाई करने को कहाहै।अब अगली कार्रवाई पर फैसला सेना प्रमुख लेंगे। यह दक्षिण कोरिया को काफी महंगा पड़ेगा।

एक हफ्ते में पांच लाख गुब्बारे छोड़े गए

7 जूनसे लेकर अब तक उत्तर कोरिया में 5 लाख बलून छोड़े गए हैं। इनमें किम जोंग उन की ओर से दी जाने वाली परमाणु हमले की आलोचना करने वाले पर्चे होते हैं। इसके अलावा,इनमें उत्तर कोरिया में हो रहेमानवाधिकार उल्लंघन पर सवाल उठाए जाते हैं।उत्तर कोरिया ने इस पर कई बार आपत्ति जताई है। वहीं, दक्षिण कोरिया का दावा है कि वह पर्चे भेजने वाले प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई कर रहा है।

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच बढ़ा तनाव
पिछले कुछ समय से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ा है। उत्तर कोरिया ने मंगलवार को दक्षिण कोरिया से सभी तरह का संपर्क बंद करने का ऐलान किया था। उत्तर कोरिया ने कहा था, 'हम दक्षिण कोरिया से जुड़ी हॉटलाइन समेत सभी कम्युनिकेशन लाइनें बंद कर रहे हैं। वो अब हमारा दुश्मन देश है। दक्षिण कोरिया हमारे खिलाफ प्रोपेगेंडा चलाने वालों को नहीं रोक पाया।'



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन (बाएं) और किम जोंग की बहन किम यो जोंग (दाएं) की यह फोटो 10 फरवरी की है। दोनों सियोल के ब्लू हाउस में एक कार्यक्रम शामिल हुए थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37pvDvk
via IFTTT

No comments:

Post a Comment