72 घंटे में कोरोना के 18 लोगों ने दम तोड़ा, अब तक 37 पेशेंट की हो चुकी गुड़गांव में मौत - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Monday, June 15, 2020

72 घंटे में कोरोना के 18 लोगों ने दम तोड़ा, अब तक 37 पेशेंट की हो चुकी गुड़गांव में मौत

नवनियुक्त सीएमओ ने पहली बार ली एमओ व एसएमओ की ओपन बैठक, गुड़गांव अब कोरोना के पेशेंट को कहां और किसके संपर्क आने के बाद संक्रमण फैला है, यह बताना होगा। यदि पेशेंट सही जानकारी नहीं देगा और जानकारी छुपाएगा तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की कार्रवाई की जा सकती है।

यह आदेश सोमवार को नवनियुक्त सीएमओ डाक्टर विरेन्द्र यादव ने एसएमओ व एमओ की खुले में हुई बैठक के दौरान उन्हें दिए हैं। किसी भी हालत में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में हमें फेल नहीं होना है। सेंपल लिए जाने के बाद अगर पेशेंट की रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि होती है, तो उस मरीज से 24 घंटे में संपर्क साधें और कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करें।

जिससे कि संक्रमण को फैलने के सोर्स का जल्द से जल्द पता लगाया सके। इसके अलावा अभी तक जिला स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही से गुम हुए 65 से अधिक पेशेंट को ढूंढने के लिए भी आदेश दिए हैं। इसके लिए पुलिस कार्रवाई करवाई जाएगी।

गुम हुए कोरोना के संक्रमित 65 से अधिक पेशेंट को तुरंत ढूढने के आदेश दिए

सख्त लहजे में वीरेंद्र यादव ने कहा कि अगर कोई कर्मचारी काम में लापरवाही करता है तो उसके खिलाफ भी शिकायत दें और मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा। हम लोगों को संक्रमण को रोकना है। इसके लिए कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग को मजबूत बनाने के साथ-साथ लोगों को जागरूक करना होगा। सीएमओ विरेन्द्र यादव सोमवार को सिविल सर्जन कार्यालय में पहली बार बैठक ले रहे थे।

सीएमओ ने सभी डॉक्टरों को कहा कि हमें रोजाना मेहनत करनी है। लेकिन हमें यह नहीं पता कि कितने दिनों तक मेहनत करनी है। कोरोना को हराने के लिए उससे डरने की जरूरत नहीं है। बल्कि उसका डट कर और बुलंद हौसले से उसका मुकाबला करना है। हमें डबल मास्क पहनना है और सावधानी बरतनी है कि हम अपने हाथों को मुंह और नाक को ना छुएं।

हाई-रिस्क क्षेत्र में हम सभी को दस्ताने भी पहनने हैं। हम सुरक्षित रहेगें, तभी समाज को भी सुरक्षित कर सकेगें। इसीलिए पहले खुद को सुरक्षित रखें और फिर लोगों को सुरक्षित कैसे रहना है इसके बारे में जागरूक करें। जिससे कम से कम लोग संक्रमण के चपेट में आएंगे।


होम आइसोलेट संक्रमित मरीजों से रोजाना बात करें

होम क्वारेंटाइन पेशेंट से रोज करें संपर्क सिविल सर्जन ने सख्त लहजे में कहा कि होम आइसोलेट कोरोना संक्रमित मरीजों से रोजाना बात करें। अगर उनकी तबीयत खराब हो तो तय समय में एंबुलेंस उपलब्ध करवाने से लेकर अस्पताल में भर्ती करवाना सुनिश्चित किया जाएं। सबसे पहले हमें मौत के आंकडों को कम करना है और उसके बाद हमें संक्रमण को रोकना है।

मरीजों से बात करें और उनका हौसल भी बढ़ाएं। मरीजों के घर जाकर बातें करे और देखे की घर का परिवार सुरक्षित है और उनके सैंपल लिए गए है या नहीं। आशा वर्कर से भी बात की सिविल सर्जन दोपहर को आशा वर्कर से भी मिले और उनकी परेशानी को पूछा। उनकी परेशानी को दूर करने का आश्वासन देने के साथ-साथ सभी को अपने-अपने क्षेत्र में मजबूती से कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करने के लिए कहां है।

कोरोना से 72 घंटे में 18 लोगों ने दम तोड़ा, अब तक 37 की मौत
गुड़गांव में सोमवार को तीसरे दिन लगातार 6 लोगों ने दम तोड़ दिया। ऐसे में 72 घंटे में 18 लोगों की मौत होने से जहां जिला स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है, वहीं आम लोगों में भी कोरोना वायरस का डर बढ़ गया है। इसके अलावा सोमवार को गुड़गांव में कोरोना के 183 नए पॉजिटिव केस मिले जिससे कुल संख्या बढ़कर 3477 हो गई। हालांकि राहत की बात है कि अब तक एक दिन सबसे अधिक 511 लोग रिकवर होकर डिस्चार्ज हुए हैं जिससे गुड़गांव में ठीक होने वाले पेशेंट की संख्या 1776 हो गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
सीएमओ डा. विरेन्द्र यादव ओपन बैठक में डॉक्टराें काे संबाेधित करते हुए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37wSW6o
via IFTTT

No comments:

Post a Comment