चार्जशीट में दावा अंकित की बॉडी पर चोट के 51 निशाने थे, नाले में मिला था शव, 96 गवाह भी बनाए गए - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Wednesday, June 3, 2020

चार्जशीट में दावा अंकित की बॉडी पर चोट के 51 निशाने थे, नाले में मिला था शव, 96 गवाह भी बनाए गए

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने दिल्ली हिंसा के दौरान इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) कांस्टेबल अंकित शर्मा की हत्या मामले में बुधवार को चार्जशीट दाखिल की है। चार्जशीट अंकित शर्मा की हत्या 10 लोगों ने मिलकर की थी। हत्या के आरोपियों में पार्षद ताहिर हुसैन, हलील सलमान, समीर शामिल है। इसके अलावा 2 कुख्यात बदमाश नाजिम और कासिम समेत 5 और अन्य आरोपी हैं। चार्जशीट में 96 गवाह भी बनाए गए है।

कड़कड़ड़ूमा कोर्ट में दाखिल की गई 650 पन्ने की चार्जशीट दावा किया गया है कि अंकित शर्मा की बॉडी पर चोट के 51 निशाने थे। इसकी हत्या की साजिश में पार्षद ताहिर हुसैन भी शामिल था। चार्जशीट में सलमान मुख्य आरोपी है, जिसके मोबाइल की वॉयस काल को दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने इंटरसेप्ट किया था। इस अहम सबूत की फोरेंसिक जांच में अंकित के सभी आरोपियों का खुलासा हुआ था। फिलहाल अंकित हत्याकांड के सभी आरोपी जेल में हैं।

क्या था आईबी अधिकारी की हत्या का मामला
दयालपुर थाने में अंकित शर्मा की हत्या का दर्ज किया गया था। 25 फरवरी की शाम को अंकित शर्मा की हत्या खजूरी खास इलाके में ताहिर हुसैन का घर के बाहर की गई थी। हत्या के बाद अंकित शर्मा के शव को भीड़ ने पास के नाले में फेंक दिया था। अगले दिन सुबह शव को नाले से निकाला गया था। पास की छत पर खड़े एक व्यक्ति ने इसकी वीडियो बनाई थी, जिसमें अंकित के शव को भीड़ नाले में फेंकती दिखाई दे रही है।

पोस्टमार्टम करने वाले चिकित्सकों को अंकित के शरीर पर 51 तेज और गहरी चोटों के निशान मिले थे। इस मामले में ताहिर हुसैन सहित 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। क्राइम ब्रांच को मामले की जांच में पता चला है कि दंगों की गहरी साजिश रची गई थी और अंकित शर्मा इलाके में जाना-पहचाना चेहरा था।

ताहिर हुसैन के नेतृत्व में भीड़ ने बनाया था निशाना
जांच में पता चला था कि ताहिर हुसैन के नेतृत्व में भीड़ ने अंकित शर्मा को निशाना बनाया था। जांच में यह भी पाया गया है कि ताहिर हुसैन वह मुख्य व्यक्ति हैं, जिसने 24 और 25 फरवरी को चांद बाग में लोगों को उकसाया था। 24 फरवरी को हुए दंगा मामले में उसके खिलाफ मंगलवार को भी क्राइम ब्रांच ने आरोप पत्र दायर किया है। जांच के दौरान अंकित शर्मा पर चाकू से वार करने के लिए प्रयोग किया गया खून से सना चाकू और हत्या करने वाले व्यक्ति के कपड़े बरामद हुए थे। कपड़ों पर अंकित शर्मा का खून भी मिला था। हत्या में प्रयोग किया गया एक और चाकू भी बरामद किया गया था।

दंगों के दौरान ताहिर लगातार आप के वरिष्ठ नेताओं के साथ संपर्क में था: भाजपा
पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों और आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है। जिसे लेकर दिल्ली भाजपा के नव नियुक्त अध्यक्ष आदेश कुमार गुप्ता ने आम आदमी पार्टी पर हमला बोला है। गुप्ता ने कहा कि पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों का जिक्र करते ही मन विचलित हो जाता है। अब यह सच्चाई सामने आ गई है कि इन दंगों का मास्टरमाइंड आम आदमी पार्टी का पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन ही है।

साथ ही यह बात भी सामने आई है कि पीएफआई की ओर से ताहिर हुसैन व उमर खालिद को 1 करोड़ से अधिक की रकम उपलब्ध कराई गई थी। जिसे ताहिर हुसैन ने दंगों को अंजाम देने के लिए लोगों में बांटा था। गुप्ता ने कहा कि ताहिर हुसैन द्वारा सुनियोजित तरीके से रची गई दंगों की साजिश ने 53 लोगों की जान ले ली और 200 से भी ज्यादा लोग घायल हुए थे। क्या इतनी बड़ी साजिश की भनक आम आदमी पार्टी सरकार में किसी को नहीं लगी?
क्या दिल्ली सरकार ने अपने नेताओं को दिल्ली को जलाने की खुली छूट दे रखी है? दंगों के दौरान ताहिर हुसैन लगातार आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ संपर्क में था। दंगों के बाद भी आम आदमी पार्टी के नेताओं ने ताहिर हुसैन को बचाने की पुरजोर कोशिश करते रहे। क्या दंगों के लिए ताहिर हुसैन को आम आदमी पार्टी का संरक्षण प्राप्त था?



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
In the charge sheet, there were 51 marks of injury on Ankit's body, the body was found in the drain, 96 witnesses were also made


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2BqrgE9
via IFTTT

No comments:

Post a Comment