प्रॉपर्टी एजेंट के पूर्व ड्राइवर समेत 3 आरोपी गिरफ्तार, दस लाख से ज्यादा कैश बरामद - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Saturday, June 27, 2020

प्रॉपर्टी एजेंट के पूर्व ड्राइवर समेत 3 आरोपी गिरफ्तार, दस लाख से ज्यादा कैश बरामद

पंजाबी बाग इलाके में एक रियल इस्टेट एजेंट के ऑफिस में 32 लाख की लूट का मामला खुल गया है। क्राइम ब्रांच ने इस केस में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें एक आरोपी पीड़ित का ही पूर्व कर्मचारी है। उसी की सूचना पर यह वारदात हुई थी। इनके पास से पुलिस ने लूटी गई रकम से 10 लाख 20 हजार रुपए, एक मोबाइल और चालीस ग्राम सोने की चेन मिली है। आरोपियों की पहचान इंद्रलोक निवासी मोहम्मद नदीम, दया बस्ती निवासी रविन्द्र कुमार व मिलन के तौर पर हुई।

डीसीपी क्राइम ब्रांच राजेश देव ने बताया 17 जून की शाम पश्चिम विहार एक्सटेंशन में रियल इस्टेट एजेंट विभू अग्रवाल और उसके कर्मचारी से 32 लाख रुपयों से भरा बैग लूट लिया गया था। घटना का विरोध करने पर दो बदमाशों ने पीड़ित को मारने की धमकी भी दी। घटना को लेकर हुई शिकायत पर पंजाबी बाग थाने में 18 जून को पंजाबीबाग थाने में लूट का केस दर्ज किया गया।

इंस्पेक्टर नीरज चौधरी की टीम ने मामले की जांच के दौरान जेल से हाल ही में पैरोल पर बाहर आ अपराधियों के बारे में जानकारी जुटायी। इसमें मोहम्मद नदीम का नाम सामने आया। पता चला वह डकैती और हत्या के मामले में 20 अप्रैल को ही जेल से बाहर आया था। पुलिस ने उस पर नजर रखनी शुरु की, जिससे पीड़ित के ही पूर्व कर्मचारी कम ड्राइवर रविन्द्र का नाम सामने आया।

आरोपी पूर्व ड्राइवर रविंद्र पहले भी दो वारदातों में शामिल रह चुका है

इसके बाद पुलिस ने 26 जून को हिरासत में ले लिया। उससे हुई पूछताछ में वारदात खुल गई, जिसकी निशानदेही पर इस वारदात में शामिल दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। बाद में तीनों आरोपियों से दस लाख से ज्यादा का कैश, मोबाइल और सोने की चेन बरामद हुई। मोहम्मद नदीम पर आठ आपराधिक केस हैं, जबकि रविन्द्र भी दो मामले में शामिल रह चुका है। पहली बार रविन्द्र साल 2010 में अरेस्ट हुआ था। क्योंकि रविन्द्र पीडित के यहां ड्राइवर का काम कर चुका था, इसलिए उसे ऑफिस में आने वाली मोटी रकम के बारे में जानकारी थी।

यह बात उसने नदीम से शेयर की, जिसके बाद तीनों ने मिलकर लूट की प्लानिंग की। वारदात से एक दिन पहले बाकायदा आरोपियों ने रेकी भी की। रविन्द्र ने इस अपराध के लिए एक बाइक भी चुरायी। वह ऑफिस के बाहर सड़क के दूसरी तरफ बाइक लिए खड़ा रहा, जबकि उसके दोनों साथियों ने कैश लूटा था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/385YOnz
via IFTTT

No comments:

Post a Comment