हरभजन ने कहा- युवाओं को मौका मिले; पूर्व मुख्य चयनकर्ता बोले- टी-20 वर्ल्ड कप के लिए धोनी की वापसी हो, ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए सस्पेंस - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Friday, June 19, 2020

हरभजन ने कहा- युवाओं को मौका मिले; पूर्व मुख्य चयनकर्ता बोले- टी-20 वर्ल्ड कप के लिए धोनी की वापसी हो, ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए सस्पेंस

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अगले महीने से टॉप क्रिकेटर्स के साथ ट्रेनिंग कैंप शुरू करने जा रहा है। यह 6 हफ्तों के लिए रहेगा। इसमें सबसे बड़ा सवाल यही उठ रहा है कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी कैंप में शामिल होंगे या नहीं। क्योंकि, धोनी को इसी साल बीसीसीआई ने सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट लिस्ट से भी बाहर कर दिया है, लेकिन कैंप में लिस्ट के बाहर के भी कई खिलाड़ी शामिल होंगे। इस सवाल पर क्रिकेट एक्सपर्ट भी बंटे हुए हैं।

पूर्व स्पिनर हरभजन सिंह चाहते हैं कि कैंप में सूर्य कुमार यादव और यशस्वी जायसवाल जैसे युवा खिलाड़ियों को मौका मिलना चाहिए। वहीं, पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद का मानना है कि यदि टी-20 वर्ल्ड कप होता है, तो उसके लिए धोनी को कैंप में शामिल होना चाहिए। लेकिन ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए कुछ कह नहीं सकते।

धोनी का कैंप में होना युवाओं के लिए फायदेमंद
एमएसके प्रसाद ने कहा, ‘‘मुझे यह नहीं पता कि टी-20 वर्ल्ड कप हो रहा है या नहीं। यदि हो रहा है, तो ट्रेनिंग कैंप इसकी तैयारियों के लिए ही होगा। ऐसे में धोनी को कैंप में जरूर होना चाहिए। अगर यह कैंप किसी द्विपक्षीय सीरीज के लिए है, तो आपके पास लोकेश राहुल, ऋषभ पंत और संजू सैमसन जैसे खिलाड़ी भी हैं।’’ उन्होंने कहा कि धोनी के कैंप में होने से युवा विकेटकीपरों को फायदा होगा।

टी-20 में सूर्यकुमार बड़े दावेदार: हरभजन
हरभजन ने कहा, ‘‘मैं कैंप में सूर्यकुमार यादव जैसे युवा खिलाड़ियों को देखना चाहता हूं। इसमें अंडर-19 टीम के खिलाड़ी लेग स्पिनर रवि बिश्नोई और यशस्वी जायसवाल भी होना चाहिए। सभी युवाओं को सीनियर्स से बात करने का मौका मिलना चाहिए। टी-20 टीम में सूर्यकुमार से बड़ा दावेदार कोई नहीं है।’’

मैं चयनकर्ता होता तो धोनी को टीम में चुनता: नेहरा
वहीं, तेज गेंदबाज आशीष नेहरा ने कहा, ‘‘यदि मैं मुख्य चयनकर्ता होता, तो धोनी मेरी टीम में जरूर होते। हालांकि, सवाल यह भी है कि धोनी खेलना चाहते भी हैं या नहीं। सबसे बड़ी बात यही मायने रखती है कि धोनी चाहते क्या हैं।’’ धोनी के कप्तानी में ही भारत ने 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीता था। तब नेहरा भी टीम में खेले थे।

धोनी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता: दीप दासगुप्ता
पूर्व भारतीय विकेटकीपर दीप दासगुप्ता ने कहा, ‘‘कैंप कई हफ्ते तक चलेगा। ऐसे में यदि धोनी शामिल होंगे, तो दूसरे युवा विकेटकीपरों को उनसे काफी कुछ सीखने को मिलेगा। यदि वे कैंप में किसी कारण से शामिल नहीं हुए, तब भी मैं उनकी दावेदारी से मना नहीं करूंगा। वे यदि आईपीएल में 4 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 500 रन बनाते हैं, तो आप उन्हें नजरअंदाज नहीं कर सकते।’’

धोनी का कैंप में शामिल होना चौंकाने वाला फैसला होगा: ऑफिसर
सेलेक्शन कमेटी के सीनियर ऑफिसर ने कहा, ‘‘वे (धोनी) एक साल से नहीं खेले हैं। उनकी फिटनेस के बारे में किसी को कुछ पता नहीं है। सेंट्रल कॉन्ट्रेक्ट से भी उन्हें बाहर कर दिया गया और पिछले साल वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए भी उन्हें नहीं चुना गया था। ऐसे में यदि उन्हें कैंप के लिए बुलाया जाता है, तो यह एक चौंकाने वाला फैसला होगा।’’

धोनी ने 350 वनडे में 10773 रन बनाए
धोनी एक साल से भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं। उन्होंने पिछला मैच जुलाई 2019 में वनडे वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल खेला था। इस मैच में न्यूजीलैंड के हाथों हार मिली थी। धोनी ने अब तक 90 टेस्ट में 4876, 350 वनडे में 10773 और 98 टी-20 में 1617 रन बनाए हैं। उनके नाम आईपीएल के 190 मैच में 4432 रन हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
धोनी ने अब तक 90 टेस्ट में 4876 और 350 वनडे में 10773 रन बनाए हैं। उनके नाम 98 टी-20 में 1617 रन हैं। -फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Nec2F4
via IFTTT

No comments:

Post a Comment