कोरोना पॉजिटिव मरीज को अब जांच कराने जाना होगा कोविड-19 केयर सेंटर - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Sunday, June 21, 2020

कोरोना पॉजिटिव मरीज को अब जांच कराने जाना होगा कोविड-19 केयर सेंटर

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल के बीच टकराव के बाद 5 दिन क्वारेंटाइन केंद्र में रहना अनिवार्य नहीं होने का आदेश वापस लेने के बाद संशोधित आदेश जारी किए है। इसके तहत अब कोरोना पॉजिटिव मरीज को जांच कराने के लिए कोविड केयर सेंटर जाना अनिवार्य कर दिया है। अभी तक मरीज से टेली कम्यूनिकेशन से उसकी दूसरी बीमारी और स्वास्थ्य संबंधी जानकारी लेकर होम आइसोलेशन में रहने के लिए परामर्श दिया जाता था।

आदेश के अनुसार होम आइसोलेशन के लिए घर में दो रूम और अलग से शौचालय का फिजिकल मूल्यांकन भी किया जाएगा। ताकि घर के दूसरे सदस्यों को कोरोना संक्रमित होने का खतरा ना रहे। इसके बाद ही होम आइसोलेशन की इजाजत दी जाएगी। वहीं, वर्तमान में रह रहे होम आइसोलेशन के मरीजों को केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करने को कहा गया है। इस मामले में दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में मेडिकल स्टॉफ और एंबुलेंस की संख्या इतनी नहीं है कि वह सभी कोरोना पॉजिटिव मरीज को कोरोना केयर सेंटर ले जा सकें।

वहीं, यदि कोरोना पॉजिटिव मरीज अपने परिवार के साथ अपनी गाड़ी या टैक्सी से जाता है तो इससे अन्य लोगों और परिवार के सदस्यों को संक्रमित होने का भी खतरा बढ़ेगा। बता दें दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) के चेयरमैन उपराज्यपाल अनिल बैजल ने होम आइसोलेशन को समाप्त कर 5 दिन का क्वारेंटाइन अनिवार्य कर दिया था। जिसका मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने विरोध किया था। जिसके बाद उपराज्यपाल ने 5 दिन के क्वारेंटाइन रहने के फैसले को वापस ले लिया था, लेकिन अब कोरोना पॉजिटिव को कोविड केयर सेंटर जाने को अनिवार्य कर दिया है।

प्लाज्मा थेरेपी के बाद सत्येंद्र जैन की हालत में सुधार, आईसीयू में भर्ती

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को बेहतर चिकित्सा सुविधा देने के लिए कुछ सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों के वरिष्ठ डॉक्टरों की एक टीम को तैयार रखा गया है। सत्येंद्र जैन फिलहाल दिल्ली के मैक्स अस्पताल के आईसीयू में भर्ती हैं। दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि 55 वर्षीय जैन की हालत में सुधार हो रहा है और डॉक्टर उनकी स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

उन्होंने बताया कि जैन को साकेत के मैक्स अस्पताल में शनिवार को प्लाज्मा थेरेपी दी गई थी और उनकी स्थिति अब स्थिर है। अधिकारियों ने बताया कि कुछ सरकारी और निजी अस्पतालों के डॉक्टरों की एक टीम को उनका ध्यान रख रहे डॉक्टरों की मदद के लिए तैयार रखा गया है। सूत्रों के मुताबिक अतिरिक्त टीम में राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल, मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज और अन्य प्रमुख निजी अस्पताल के डॉक्टर शामिल हैं।

बता दें कि जैन की स्थिति बिगड़ने के बाद उन्हें आरजीएसएसएच से मैक्स अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। आरजीएसएसएच एक कोविड.19 अस्पताल है लेकिन उसके पास प्लाज्मा थेरेपी करने की अनुमति नहीं है। दिल्ली सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि उनकी स्थिति बिगड़ने के बाद हमने प्लाज्मा थेरेपी के लिए उन्हें मैक्स अस्पताल में भेजने से पहले सारी औपचारिकताएं पूरी कीं। आरजीएसएसएच अस्पताल के चिकित्सकों ने गुरुवार को कहा कि मंत्री को निमोनिया हुआ है और उनका ऑक्सीजन का स्तर भी घट गया है जिसके बाद अस्पताल के अधिकारियों को उन्हें आईसीयू में भर्ती कराना पड़ा।

मंडोली जेल में बंद कैदी की कोरोना से मौत, हत्या के मामले में हुई थी सजा
मंडोली जेल में कुंवर सिंह नाम के एक बुजुर्ग कैदी की कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई। वह हत्या के एक केस में बंद थे। मामले में जेल में बंद था। जेल के अंदर कोरोना से हुई कैदी की मोत का यह पहला मामला है। इस कैदी की मौत के बाद से जेल प्रशासन में हडकंप मचा हुआ है।
मंडोली जेल में बंद कुंवर सिंह की पंद्रह जून को मौत हो गई थी। वह सोया था जो उठा नहीं। संदिग्ध हालात में मौत होने की वजह से मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट के आदेश पर उनका कोरोना का टेस्ट हुआ, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। 62 साल का कुंवर सिंह सीनियर सिटीजन जेल नम्बर 14 में 28 दूसरे कैदियों के साथ रह रहा था।

इस कैदी की मौत के बाद उसके साथ रहने वाले अन्य कैदियों का भी कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है। अमन विहार इलाके में 2016 में हुई हत्या के एक मामले में कुंवर सिंह को दोषी करार दिया गया था, जिसके लिए उसे उम्र कैद की सजा सुनायी गई थी। वह 6 जुलाई 2018 से मंडोली जेल में था।

कोरोना की चपेट में आए आदर्श नगर और शाहबाद डेरी थाने के एसएचओ
कोरोना वायरस दिल्ली में विकराल रूप ले चुका है। जिससे निपटने के लिए सरकार अपने तौर पर अस्पतालों में इंतेज़ाम करने की कोशिश कर रही है। दिल्ली पुलिस भी सड़कों पर रहकर लोगों को घरों में ही रहने के निर्देश दे रही है। लोगो की समस्याओं को सुनने और और उसका समाधान निकालते-निकालते वह भी वायरस की चपेट में आ रहे हैं। इस बार आदर्श नगर और शाहबाद डेरी थाने में तैनात एसएचओ कोरोना वायरस की चपेट में आ गए हैं। जिनको तुरंत उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

शाहबाद डेरी के 8 जबकि आदर्श नगर थाने के 12 से अधिक पुलिस कर्मी वायरस की चपेट में आ चुके हैं। कुछ ठीक होकर ड्यूटी पर वापिस आ चुके हैं, तो कुछ का उपचार चल रहा है। दोनों थानों को को अब सेनेटाइज किया जा रहा है। इनके संपर्क में जो आए थे, उनका भी टेस्ट करवाने की कोशिश की जा रही हैl पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पुलिस परिवार अपनी ड्यूटी को इन हालातों में भी पृरी निष्पक्ष भाव से कर रही है। जिससे दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था बनी रहे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Corona positive patient will have to go to Kovid-19 care center now


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2NkAh4l
via IFTTT

No comments:

Post a Comment