टोकन से मिलेगी शराब, सीएस ने आबकरी आयुक्त से होम डिलीवरी का प्रस्ताव मांगा - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Wednesday, May 6, 2020

टोकन से मिलेगी शराब, सीएस ने आबकरी आयुक्त से होम डिलीवरी का प्रस्ताव मांगा

शराब की दुकानों के सामने सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने के लिए अब टोकन/कूपन से शराब बेचने के लिए आदेश दिया गया है। इस संबंध में बुधवार को आबकारी विभाग के डिप्टी कमिश्नर की तरफ से आदेश जारी कर दिए गए। आदेश के अनुसार दिल्ली में शराब की दुकाने संचालित करने वाले चारों निगमों दिल्ली राज्य औद्योगिक एवं अवसंचरना विकास निगम कॉरपोरेशन, दिल्ली पर्यटन एवं परिवहन विकास निगम, दिल्ली राज्य नागरिक आपूर्ति निगम और दिल्ली उपभोक्ता सहकारी थोक केंद्र के लिए है।

आदेश में बैरिकेंटिंग और मार्किंग करने को भी कहा गया है। इसके अलावा उपाए में अलग-अलग कई लाइन लगाने और पर्याप्त संख्या में मार्शल की तैनात कर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने को कहा गया है। आदेश में चारों निगमों को शराब की दुकान के सामने दिल्ली पुलिस और स्थानीय प्रशासन के सहयोग से केंद्र सरकार के सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने को कहा गया है। सरकार अब होम डिलीवरी सेवा शुरू करने की दिशा में भी कदम बढ़ा रही है। इस संबंध में दिल्ली के मुख्य सचिव ने आबकारी आयुक्त को प्रस्ताव तैयार करने को कहा है। जानकारी के अनुसार इसमे शराब की होम डिलीवरी के लिए एजेंसी अलग से चार्ज कर सकती है।

विश्वास नगर, चंद्रनगर, मालवीय नगर में दुकानदारों ने लगाए पोस्टर-अगले आदेश तक दुकान नहीं खुलेंगी

दिल्ली में 70% कोरोना फीस के साथ भी शराब के खरीददार बुधवार तड़के ही बोतल खरीदने के लिए लाइन में लग गए। लक्ष्मी नगर, कल्याणपुरी में एक किलोमीटर से भी लंबी लाइन थी, जहां लोगों को शराब मिल गई। विश्वास नगर, चंद्र नगर, कृष्णा नगर, झील चौक, शिवपुरी, मालवीय नगर में सुबह से लोग लाइन में लगे थे लेकिन दुकान खुलने के टाइम पर पता चला नहीं खुलेगी। विश्वास नगर में डीसीसीडब्ल्यूएस, चंद्र नगर में डीटीटीडीसी ने दुकान के बाहर पोस्टर लगाया था जिसमें लिखा था अगले आदेश तक दुकान नहीं खुलेगी। कृष्णा नगर में डीएसआईआईडीसी की दुकान के सामने दो पुलिसकर्मी खड़े थे और दुकान बंद थी।

शराब की दुकान के बराबर वाली शटरबंद दुकान में रहने वाले आमिर ने कहा कि सुबह 3 बजे से लाइन लगी थी। 9 बजे दुकानदार आया और शटर खोलकर अंदर गया, थोड़ी देर में बाहर आया और ताला बंद करके चला गया। 5 मई को चंद दुकान आधे से एक घंटे के लिए खुली और 154.7 लाख रुपए की शराब बिक गई। शराब की इस बिक्री से दिल्ली सरकार को 63.7 लाख रुपए की ‘कोरोना फी’ मिली। बुधवार को भी सभी दुकान नहीं खुल सकी। सरकार कोशिश कर रही है कि दुकान निर्धारित सुबह 9 बजे से शाम 6.30 बजे तक खुले।

इधर, ठेके बंद करवाने के लिए हाई कोर्ट में याचिका, कहा- लॉकडाउन का मकसद फेल

लॉकडाउन के दौरान दिल्ली सरकार द्वारा शराब की दुकानें खोलने के खिलाफ एक एनजीओ ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है। याचिका में कहा गया है कि ठेके खोलने से लॉकडाउन का मकसद फेल हो रहा है। याचिका में कहा गया कि दिल्ली अभी रेड जोन में है इसके बावजूद शराब की दुकानें खोल दी गई हैं।

सर्वे: 52% लोगों ने की होम डिलीवरी की मांग
सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर रायशुमारी करने वाली लोकल सर्किल के सर्वे में 52 फीसदी लोगों ने शराब की दुकान में लग रही भीड़, टूट रहे सोशल डिस्टेंसिंग के नियम और संक्रमण के डर को दूर करने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग के साथ शराब की होम डिलीवरी को विकल्प बताया है। तरीका ई कॉमर्स, फोन, वाट्सएप आर्डर हो सकता है। 23 फीसदी ने पुलिस की मौजूदगी बढ़ाने को कहा। 16 फीसदी लोगों ने कहा है कि शराब की दुकान की टाइमिंग बढ़ाई जानी चाहिए।

झील चौक


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
झंडेवालान शराब के लिए लोग घंटों कतार में लगे


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2W8R9Ak
via IFTTT

No comments:

Post a Comment