राजधानी में कोरोना का संक्रमण नहीं थमा, लेकिन मरीजों की मृत्यु दर में आई कमी - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Monday, May 4, 2020

राजधानी में कोरोना का संक्रमण नहीं थमा, लेकिन मरीजों की मृत्यु दर में आई कमी

दिल्ली मेें कोरोना संक्रमितों की तादाद पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ रही है। सोमवार को यह आंकड़ा बढ़कर 4898 हो गया। वहीं, 1431 लोग घर लौटे। पिछले 24 घंटे में कोई मौत नहीं हुई है। इधर, सुखद यह है कि इसमें मौत का प्रतिशत कुछ समय से घट रहा है। यह कमी 25 अप्रैल से दर्ज की जा रही है। जानकारी के मुताबिक 24 अप्रैल को दिल्ली में कोरोना से कुल 53 मौत हुईं थीं, जोकि कुल मरीजों 2514 का 2.11 फीसदी था। इसके बाद मरीजों की मौत के प्रतिशत में कमी 28 अप्रैल तक जारी रही। हालांकि मरीजों की तादाद बढ़ती रही।

29 अप्रैल को मरीजों की मौत का प्रतिशत स्थिर रहा और उसके बाद फिर से इसमें कमी आने लगी, जोकि 3 मई को 1.41 प्रतिशत तक पहुंच गया। इस दिन मौत 64 और मरीजों की संख्या 4549 पहुंच गई। मरीजों की मौत के प्रतिशत में कमी आना संकेत देता है कि डॉक्टर मरीजों का इलाज अच्छे से कर रहे हैं।आंकड़ों पर गौर करें तो 26 से 28 अप्रैल तक मौत के आंकड़ों में कोई फेरबदल नहीं हुआ, लेकिन मरीजों की तादाद लगातार बढ़ने की वजह से मौत के प्रतिशत में लगातार कमी होती रही। 2 और 3 मई को भी मौत के आंकड़े में बदलाव नहीं हुआ, कुल संख्या 64 ही रही। मगर प्रतिशत में 0.14 का फर्क आ गया।
चिंता: 50 साल से कम उम्र के मरीजों की मृत्यु दर में बढ़ोतरी
एक तरफ जहां ओवर ऑल मौत प्रतिशत में कमी दर्ज की गई है। वहीं 50 साल से कम उम्र के मरीजों की मौत के प्रतिशत में बढ़ोतरी देखी गई। 30 अप्रैल से 50 साल से कम उम्र के मरीजों की मौत का प्रतिशत बढ़ा है। 29-30 अप्रैल को इस वर्ग की मौत का प्रतिशत 0.43 था, जोकि 1 मई को यह बढ़कर 0.44 फीसदी हो गई। हालांकि इसके इस वर्ग में भी गिरावट जारी है। 2 मई को इस वर्ग के 0.4 फीसदी लोगों की मौत हुई थी। 3 मई को यह घटकर 0.36 फीसदी पर आ गया।
राहत : 50 साल से ऊपर के मरीजों की मृत्यु दर में कमी
वहीं 60 साल से ऊपर और 50-59 साल के मरीजों की मौत के प्रतिशत में लगातार गिरावट आई। 30 अप्रैल को 60 साल से ऊपर के मरीजों की मौत का प्रतिशत 5.06, वहीं 3.27 फीसदी 50-59 साल के थे। 1 मई को 4.82 फीसदी 60 और उससे ज्यादा उम्र के थे, तो 3.24 फीसदी 50-59 साल के। दो मई को 4.77 फीसदी 60 और उससे ज्यादा उम्र के थे और 3.06 फीसदी 50-59 साल के। तीन मई को 4.48 फीसदी 60 और उससे ज्यादा उम्र के मरीज थे, वहीं 2.79 फीसदी 50-59 साल के मरीज।
इधर, आजादपुर मंडी में कोरोना से मौत होने पर मिलेगा मुआवजा

आजादपुर मंडी में काम करने वाले लोगों की कोविड-19 से मौत होने पर मिलेगा मुआवजा। यह निर्णय सोमवार को आजादपुर कृषि उत्पाद बाजार समिति (एपीएमसी) के अध्यक्षता में बैठक में लिया गया। एपीएमसी के अध्यक्ष आदिल अहमद खान ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि यदि मंडी परिसर में काम करने वाले किसी अधिकारी, कर्मचारी, व्यापारी, किसान,मजदूर, सफाई कर्मचारी, ड्राइवर की कोरोना से मौत होती है तो मंडी प्रशासन मुआवजा देगा। आजादपुर मंडी में 116 सैंपल की रिपोर्ट पिछले दो सप्ताह से पेडिंग है। वहीं, अब तक यहां 17 कारोबारी संक्रमित पाए गए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
चौधरी ब्रह्मप्रकाश आयुर्वेद चरक संस्थान में कोविड मरीज का सैंपल लेते स्वास्थ्यकर्मी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2SzFg4r
via IFTTT

No comments:

Post a Comment