82% जिलों में इकोनॉमी आज से पटरी पर लौटेगी - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Sunday, May 3, 2020

82% जिलों में इकोनॉमी आज से पटरी पर लौटेगी

लॉकडाउन 3.0 में रियायतों के साथ आज बड़ी संख्या में लोग घरों से बाहर निकलेंगे। उद्याेग-धंधों में काम शुरू होगा। अब ज्यादातर पाबंदियां कंटेनमेंट जोन तक सीमित रहेंगी। देश के 82% जिलों में जीवन पटरी पर आने लगेगा।

लॉकडाउन का तीसरा चरण सोमवार से शुरू हो रहा है। कड़ी शर्तों के साथ सरकार ने इस दौरान कई बड़ी रियायतें दी हैं। 40 दिनों बाद लोग अपने काम पर लौट सकेंगेे। हालांकि, कई राज्यों ने अपने यहां के सबसे ज्यादा संक्रमित शहरों को संपूर्ण लॉकडाउन में रखा है। देश के कुल 733 जिलों में से 82% जिले ग्रीन और ऑरेंज जोन में हैं। इनमें सोमवार से व्यावसायिक गतिवधियां धीरे-धीरे बढ़नी शुरू होंगी।
300 से ज्यादा जिलों में शर्तों के साथ बसें-कैब भी चलेंगी। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी के एमडी महेश व्यास बताते हैं कि 20 अप्रैल को दी गई छूट के बाद गांवों में 1 करोड़ लोग काम पर लौट चुके हैं। जेएनयू के पूर्व प्रोफेसर और अर्थशास्त्री अरुण कुमार कहते हैं कि लॉकडाउन-2 तक अर्थव्यवस्था 25% पर चल रही थी और अब 35% तक चलने लगेगी। जहां तक इंडस्ट्री का सवाल है तो इंडस्ट्रियल क्षेत्र में अभी 7-8% काम शुरू हो जाएगा। हालांकि, श्रमिकों का गांव लौटने का सिलसिला जारी है। इससे उद्योगों को दिक्कतें भी आएंगी।

रियल एस्टेट: 20% निर्माणाधीन प्रोजेक्ट में काम शुरू हो सकेगा

  • क्रेडाई के नेशनल चेयरमैन जक्षय शाह ने कहा कि शर्तों के साथ छूट मिली है। मानसून भी शुरू होने वाला है, इसलिए पहले से जारी प्रोजेक्ट शुरू हो सकेंगे। आज से 20 फीसदी प्रोजेक्ट में कार्य शुरू हो सकेगा।
  • रियल एस्टेट और निर्माण क्षेत्र में 5 करोड़ नौकरियां हैं। यह सेक्टर पहले से भी प्रभावित है।

दुकानें: अब 25 लाख और दुकानें खुल सकेंगी, 50 लाख लोग लौटेंगे

  • कन्फडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के बीसी भरतिया के मुताबिक पहले से जरूरी सामान की दुकानें खुल रही हैं। नई छूट से 25 लाख और दुकानें खुलने की उम्मीद है। देश में करीब 7 करोड़ दुकानें हैं।
  • इन दुकानों के माध्यम से 50 लाख लाेग अपने काम पर लौट आएंगे। रोजगार शुरू होगा।

इंडस्ट्री: देश के 15% उद्योगों में उत्पादन शुरू होने का अनुमान

  • लॉकडाउन 3.0 में नई रियायत से करीब 10% से 15% इंडस्ट्री उत्पादन शुरू कर पाएंगी। ज्यादातर स्थानों पर मजदूरों के ना होने और रॉ मटेरियल के अभाव में बड़ी इंडस्ट्री धीरे-धीरे खुलनाशुरू होंगी।
  • देश में अभी 23 लाख से अधिक कारखाने हैं, जिनमें 2.6 करोड़ लोग काम करते हैं।

एमएसएमई: सप्लाई करने वाली 35% इकाइयां शुरू होंगी

  • लघु उद्योग भारती के जनरल सेक्रेटरी गोविंद लेले के मुताबिक नई रियायत से बड़ी कंपनियों को सप्लाई करने वाली 30% से 35% कंपनियां और खुद का उत्पादन करने वाली 10 से 15 फीसदी इकाईयां शुरू हो जाएंगी।
  • कुल मिलाकर करीब 30% एमएसएमई इकाइयां उत्पादन शुरू कर सकती हैं।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Sx3z2Z
via IFTTT

No comments:

Post a Comment