कैट्स एंबुलेंस के कंट्रोल रूम में कोरोना का कहर, पॉजिटिव मरीजों की संख्या 47 हुई - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Friday, May 8, 2020

कैट्स एंबुलेंस के कंट्रोल रूम में कोरोना का कहर, पॉजिटिव मरीजों की संख्या 47 हुई

स्वास्थ्यकर्मियों में कोरोना का इंफेक्शन लगातार बढ़ता जा रहा है। मरीजों को अस्पताल पहुंचाने वाली कैट्स एंबुलेंस के कंट्रोल रूम में यह कुछ ज्यादा ही हो गया है। कोरोना से इंफेक्टिड कर्मचारियों की तादाद बढ़कर यहां 47 हो गई है। वहीं हिंदूराव में एक और महाराजा हरीशचंद्र अस्पताल में भी एक कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला है। कैट्स सूत्रों के मुताबिक कंट्रोल रूम में शुक्रवार को 10 कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इन्हें मिलाकर पॉजिटिव कर्मचारियों की तादाद बढ़कर 47 हो गई है। हालांकि इनमें से लोकनायक अस्पताल में भर्ती दो को डिस्चार्ज कर दिया गया है। अन्य पॉजिटिव कर्मचारी अपने-अपने घर पर क्वारेंटाइन में हैं।

दूसरी तरफ नॉर्थ एमसीडी के हिंदूराव अस्पताल में गुरुवार को एक और डॉक्टर कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आई है। यह डॉक्टर प्रसूति रोग विभाग में काम करती हैं। गुरुवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उनसे जुड़े आधा दर्ज स्वास्थ्यकर्मी को क्वारेंटाइन किया गया है। इसके अलावा संक्रमित डॉक्टर को भी आइसोलेशन में रखा गया है। फिलहाल डॉक्टर को कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं।
एमसीडी के अस्पतालों में बढ़ रहा है संक्रमण

अस्पताल में अभी तक कुल 10 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना संक्रमण की चपेट के आ चुके हैं। इनमें 6 डॉक्टर , 3 नर्स और एक पैथोलॉजी लैब से जुड़ा तकनीकी काम करने वाला कर्मचारी है। अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों का शुक्रवार को क्वारेंटाइन का समय पूरा हो गया। इनकी दोबारा जांच कराने पर रिपोर्ट निगेटिव आयी है और उन्हें काम के लिए वापस अस्पताल बुला लिया गया है। एमसीडी के अन्य अस्पताल कस्तूरबा गांधी में अब तक 5 डॉक्टर कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से तीन डॉक्टरों के रविवार को संक्रमण की पुष्टि हुई है। सबसे पहले एक डॉक्टर संक्रमित आयी थी और 9 स्वास्थ्यकर्मी को क्वारेंटाइन किया गया था।
कोविड सेल के बगल चल रही है एंबुलेंस सेवा

दिल्ली सरकार डायरेक्टर जनरल हेल्थ (डीजीएचएस) के कोविड 19 सेल के कार्यालय में पांव पसार चुकी है। डीजीएचएस ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण को काबू करने के लिए शकरपुर स्कूल ब्लाक स्थित कोविड 19 सेल का कार्यालय बना रखा है, उसी कोविड सेल के बगल में उसी फ्लोर पर सेंट्रलाइज्ड चल रही कैट्स एंबुलेंस सेवा के 47 कर्मचारी कोरोना पॉजेटिव पाए गए हैं। इसके बाद डीजीएचएस और कोविड सेल में जहां अफरा-तफरी मच गई। वहीं इस बिल्डिंग में कार्य करने वाले कर्मचारियों में भी खौफ है। कोरोना के संख्या को सरकार कितनी छिपा रही है। इस मामले में डॉ. नूतन मंुडेला निदेशक डीजीएचएस ने बताया कि सिपाही अगर डर गया तो कैसे काम करेगा। जब तक हम जीत नहीं जाते लड़ते रहेंगे।

सुविधा: हिंदूराव अस्पताल में आए नए थर्मल स्कैनर
हिंदूराव अस्पताल में शुक्रवार को फ्लू क्लीनिक में तापमान मापने वाले तीन थर्मल स्कैनर उपलब्ध कराए गए हैं। इससे पहले अस्पताल के फ्लू क्लीनिक में तापमान मापने वाले थर्मल स्कैनर खराब थे। ऐसे में मरीजों से खुद उनका तापमान पूछकर मेडिकल हिस्ट्री और रिकॉर्ड बनाया जाता था। इधर, दिल्ली सरकार के महाराजा हरीशचंद्र अस्पताल में एक डॉक्टर के कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला है। प्रशासन ने डॉक्टर की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद इसके संपर्क में आए अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को क्वारंटीन किया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Corona wreaked havoc in control room of CAT's ambulance, number of positive patients increased to 47


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/35NvKQn
via IFTTT

No comments:

Post a Comment