सास-ससुर की हत्या में गिरफ्तार बहू ने तिहाड़ जेल में चुन्नी से लगाई फांसी - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Tuesday, April 28, 2020

सास-ससुर की हत्या में गिरफ्तार बहू ने तिहाड़ जेल में चुन्नी से लगाई फांसी

तिहाड़ जेल में बंद छावला डबल मर्डर की आरोपी महिला ने चुन्नी का फंदा बनाकर खुदकुशी कर ली है। महिला जेल संख्या-छह में बंद थी। परवीन उर्फ कविता नामक महिला पर अपने ही सास-ससुर की हत्या का आरोप था। कविता का पति सतीश भी माता पिता की हत्या के आरोप में ही तिहाड़ में ही बंद है। जेल प्रशासन मामले की तहकीकात में जुटा है। पुलिस ने किसी सुसाइड नोट मिलने से भी इंकार किया है।
शव को पोस्टमार्टम के लिए दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल भिजवाया गया है। डीसीपी दीपक पुरोहित के मुताबिक कविता ने जेल संख्या 6 में रात में चुन्नी से जेल में फांसी लगा दी। सूचना मिलते ही महिला को डीडीयू अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने बताया कि 25 अप्रैल को द्वारका जिले के छावला थाना इलाके में एक दंपती की उन्हीं के घर में बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। आश्चर्य की बात तो यह रही कि दंपती की हत्या की बात घर में मौजूद बेटा और बहू को पता तक नहीं चली। मृतक की पहचान राज सिंह (61) और ओमवती (58) के रूप में हुई थी। संदेह के आधार पर पुलिस ने बेटा और बहू से पूछताछ की।
इसके बाद बहू और बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। दोनों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस के मुताबिक मौके पर मृतक का बेटा बहू अपने दो बच्चों के साथ मौजूद थे, लेकिन हत्या के बावजूद इन दोनों ने पुलिस को कॉल नहीं किया बल्कि पीसीआर कॉल दंपती की बेटी ने की। पुलिस के अनुसार मृतक के रिश्तेदारों से पता चला है कि हत्या वाले दिन से ही इनके मोबाइल पर रिश्तेदारों ने कई कॉल किए थे इन्होंने कोई भी कॉल रिसीव नहीं किया।

वहीं पड़ोसियों से पूछताछ में पुलिस को पता चला कि घर से किसी के चीखने-चिल्लाने की आवाज नहीं आई थी। पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला था कि हत्या की यह वारदात प्रॉपर्टी विवाद में अंजाम दी गई है। दरअसल बेटे को शक था कि उसके माता-पिता प्रॉपर्टी का हिस्सा उसकी दो बहनों के नाम करने वाले हैं।

मृतक दंपती की बेटी ने पुलिस को दी थी हत्या की सूचना

छावला थाना पुलिस को 25 अप्रैल को दिन में करीब 11.15 बजे बजे पीसीआर कॉल के जरिए सूचना मिली थी कि दुर्गा विहार स्थित घर में दंपती का शव पड़ा है। सूचना मिलने के बाद मौके पर जब पुलिस टीम पहुंची तो उन्हें एक कमरे के बिस्तर पर राज सिंह और ओमवती की खून से लथपथ शव नजर आया। दंपती के चेहरे पर तेज धारदार व नुकीले हथियार से वार किए जाने के निशान मिले। संभावना जताई गई कि ये निशान चाकू और पेचकस से वार किए जाने के बाद बने होंगे। जांच में पता चला था कि बेटे व बहू के से दंपति के रिश्ते अच्छे नहीं थे। मामले का पता तब चला था जब दंपती से मिलने उनकी बेटी ने 11 बजे उनके कमरे का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन जब बार.बार आवाज दिए जाने के बाद दरवाजा नहीं खुला तो धक्का देकर दरवाजा खोला। अंदर कमरे में दोनों का शव देखकर उन्होंने ही पड़ोसियों को इसकी जानकारी दी और पुलिस को सूचना दी गई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2VIRPwa
via IFTTT

No comments:

Post a Comment