मंडियों में गेहूं 4.34 लाख क्विंटल व सरसों 2099 मीट्रिक टन खरीदी गई - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Sunday, April 26, 2020

मंडियों में गेहूं 4.34 लाख क्विंटल व सरसों 2099 मीट्रिक टन खरीदी गई

लॉकडाउन के बावजूद जिले में किसानों के गेहूं की खरीद करने के व्यापक प्रबंधों के चलते गेहूं खरीद प्रक्रिया के आरंभ होने के चार दिन में ही मंडियों में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखकर करीब 4 लाख 34 हजार 65 क्विंटल से अधिक गेहूं खरीदा जा चुका है, जबकि जिले में बनाए गए सरसों खरीद के दो केंद्रों पलवल व हथीन में 2099 मीट्रिक टन सरसों खरीदी जा चुकी है। डीसी नरेश नरवाल ने कहा कि किसानों की फसलों का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। उन्होंने कहा कि 1925 रुपये प्रति क्विंटल की दर से गेहूं की कीमत मंडियों से गेहूं की उठान होने के साथ ही किसानों के खातों में जमा करा दी जाएगी।

गेंहू की खरीद के लिए 34 खरीद केन्द्र व सरसों के 2 खरीद केन्द्र स्थापित किए हैं। इन खरीद केन्द्रों में व्यवस्था बनी रहे, हर खरीद केन्द्र को सेनिटाइजेशन के अलावा हर किसान व कर्मचारी के लिए मास्क का प्रबंध किया गया है व हैंड सेनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग के भी प्रबंध किए गए हैं। होडल में अब तक 87820 क्विंटल, हसनपुर में 64235 क्विंटल, हथीन में 55012 क्विंटल, पलवल में 40426 क्विंटल, खांबी में 34868 क्विंटल, धतीर में 22675 क्विंटल, सोम राइस मिल हसनपुर में 17528 क्विंटल, श्रीबांके बिहारी राइस मिल हसनपुर में 11669 क्विंटल गेहूं की खरीद हो चुकी है।

मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल फिर हुआ शुरू

मंडियों में इस बार मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकृत किसानों की उपज ही खरीदी जा रही है। सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए पोर्टल पर पंजीकरण की प्रक्रिया को पुन: आरंभ कर दिया है। जिला में गेहूं व सरसों की सरकारी खरीद प्रक्रिया को सुचारू बनाए रखने के लिए 107 सरकारी स्कूलों में मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर नि:शुल्क पंजीकरण किया जा रहा है। किसानों को इस सुविधा का अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए।

पलवल में 8 एमएम बारिश, आंधी में उड़े तिरपाल तो बारिश ने खुले में पड़ा गेहूं गीला किया

जिले में रविवार को दोपहर बाद अचानक आई तेज आंधी व बारिश से अनाज मंडियों में ही नहीं किसानों के घरों व खेतों में खुले में पड़ा लाखों क्विंटल गेहूं पूरी तरह से भीग गया। अनाज पर जब तिरपाल ढकने का प्रयास किया तो आंधी तेज होने से वह उड़ गए, जिससे किसानों को काफी नुकसान होने की आशंका है। साथ ही बागों में खड़े आम व अमरूद सहित अन्य फलदार पौधों के भी तेज आंधी के साथ झड़ने से किसानों को काफी नुकसान हुआ है। अनाज मंडियों में तो बारिश के बाद इतना पानी भर गया है कि वहां बिकने के लिए आया गेहूं पानी में तैरता नजर आया, वहीं खरीदकर कट्टों में भरकर रखा हुआ गेहूं उठान न होने के कारण भीग कर खराब होने की आशंका है। जिले में रविवार को आधे घंटे में पलवल में 8 एमएम, हथीन में 6 एमएम और होडल व हसनपुर में 2-2 एमएम बारिश दर्ज की गई है। बेमौसम बारिश ने जहां किसानों को परेशान कर दिया, वहां सरकारी एजेंसी द्वारा खरीदे गए गेहूं को गीला कर उन्हें भी नुकसान पहुंचाया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
जिले की मंडियों में गेहूं की आवक शुरू, किसान मंडी में ट्रैक्टर-ट्राली से गेहूं खाली करते हुए


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2KAZQNt
via IFTTT

No comments:

Post a Comment