209 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव, आंबेडकर अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर भी क्वारेंटाइन - Latest news

Breaking

top ten news in hindi hindi mein news flash news in hindi aaj ka news hindi newsbihar

Breaking News

Monday, April 27, 2020

209 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव, आंबेडकर अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर भी क्वारेंटाइन

दिल्ली में कोरोना का संक्रमण स्वास्थ्यकर्मियों में तेजी से हो रहा है। रोज किसी न किसी अस्पताल में बड़ी तादाद में कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं। रोहिणी स्थित बाबा साहब आंबेडकर अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. एमएम कोहली समेत इस अस्पताल के 69 स्वास्थ्यकर्मियों को क्वारेंटाइन किया गया है। इनमें सात चीफ मेडिकल ऑफिसर के अलावा एक सीसीएमओ भी शामिल हैं। अस्पताल के डॉक्टर सौरव की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अस्पताल प्रशासन ने यह फैसला लिया।

इससे पहले 22 अप्रैल को 57 स्वास्थ्यकर्मियों को क्वारेंटाइन किया गया था। 18 अप्रैल को अस्पताल में 40 वर्षीय एक महिला की मौत हो गई थी, जिसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस बीच मैक्स, पटपड़गंज में 33 कोरोना पॉजिटिव कर्मचारियों की पुष्टि हुई है। मैक्स अस्पताल की ओर से जारी बयान में कहा गया कि अस्पताल के सभी कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट कराया जा रहा है। इसी के जरिए पता चला कि मैक्स पटपड़गंज में 33 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव हैं। 32 का इलाज मैक्स साकेत में चल रहा है। एक कर्मचारी को छुट्‌टी दे दी गई है।

इन्हें मिलाकर दिल्ली में अब तक 209 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। रविवार तक यह संख्या 148 थी। 24 घंटे में ही 61 बढ़ गए। बड़ी तादाद में स्वास्थ्यकर्मियों को क्वारेंटाइन भी किया गया है। अस्पतालों में बाबू जगजीवन राम और बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल हॉट-स्पॉट के रूप में उभरकर सामने आ रहे हैं। बाबू जगजीवन में अब तक 59 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव आ गए हैं। इसमें 15 डॉक्टर हैं। वहीं बाबा साहब आंबेडकर अस्पताल में 35 स्वास्थ्यकर्मी पॉजिटिव हो गए हैं। इसमें सात डॉक्टर शामिल हैं। मोहल्ला क्लीनिक और कैट्स के कर्मचारी भी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

आंबेडकर अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों के परिजनों पर कोरोना संकट
रोहिणी के बाबा साहेब आंबेडकर अस्पताल के 35 स्वास्थ्यकर्मी जो कोरोना पॉजिटिव आए हैं, उनके परिजन के स्वास्थ्य पर संकट मंडराने लगा है क्योंकि कोरोना संदिग्ध पाए जाने के बाद से यह अपने घर पर ही थे। अस्पताल प्रशासन ने इन्हें घर में ही क्वारेंटाइन किया था, जबकि इन्हें अस्पताल में रखा जाना चाहिए था। इस संबंध में नर्स फेडरेशन ने स्वास्थ्यकर्मियों के लिए अलग क्वारेंटाइन सेंटर बनाने की बात कही है। फेडरेशन जांच रिपोर्ट देर से आने पर भी सवाल खड़े कर रही है। फेडरेशन ऑफ दिल्ली नर्सेस ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारियों से शिकायत की है कि जांच रिपोर्ट में इतने दिन लगेंगे तो परेशानी होगी। फेडरेशन के अध्यक्ष जगदीश ने कहा कि कर्मचारियों को अस्पताल में क्वारेंटाइन किया जाना चाहिए था, न कि उनके घर पर।

सीएम केजरीवाल के घर पर प्रदर्शन करने पहुंची महिला पार्षद हिरासत में
जहांगीरपुरी के बाबू जगजीवन राम अस्पताल में स्वास्थ्यकर्मियों के लगातार कोरोना पॉजिटिव आने पर प्रशासन ने अस्पताल बंद कर रखा है। यहां अब तक 59 स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव आ चुके हैं। अस्पताल बंद होने से नाराज स्थानीय निगम पार्षद पूनम बागड़ी पूर्व विधायक और कांग्रेस नेता देवेंद्र यादव के साथ मुख्यमंत्री के घर के बाहर प्रदर्शन करने के लिए पहुंची। मगर वहां पहुंचने से पहले ही पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। पूनम ने कहा कि अस्पताल बंद होने के कारण लोगों को परेशानी हो रही है। हमारी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मांग है कि अस्पताल जल्द से जल्द खोला जाए।

कोरोना अपडेट:24 घंटे में 190 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि

दिल्ली में कोरोना मरीजों का आंकड़ा तीन हजार क पार पहुंच गया है। 24 घंटे में 190 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि हुई है। इस दौरान किसी भी कोरोना मरीज की मौत नहीं हुई और न ही कोई मरीज ठीक ही हुआ। कोरोना के संबंध दिल्ली सरकार की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार तक दिल्ली में 877 मरीज ठीक हुए। कोरोना से मौत 54 हैं। एक्टिव केसों की तादाद 2177 है। कुल 3108 मरीजों में से 2071 की उम्र 50 साल से कम है। 549 की उम्र 60 और उससे ज्यादा है, जबकि 488 की उम्र 50-59 साल के बीच है।

रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना से मरने वाले 54 में से 46 पहले से बीमार थे। सरकार ने कोरोना की मृत्यु दर 2.06 फीसदी बताई है। इसमें से 6.16 फीसदी 60 और उससे ज्यादा उम्र के हैं। 3.54 फीसदी 50-59 साल के हैं। 0.58 फीसदी 50 और उससे कम उम्र के हैं। दिल्ली में रविवार तक 39,911 सैंपल की जांच हुई है। इसमें से 34,145 की रिपोर्ट निगेटिव है। 2401 की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है। सिर्फ 3108 की जांच रिपोर्ट ही पॉजिटिव है। दिल्ली के अस्पतालों में कुल 642 कोरोना मरीज भर्ती हैं। इनमें से आईसीयू में 49 और वेंटिलेटर पर 11 मरीज हैं। सबसे ज्यादा लोकनायक में 197 मरीज भर्ती हैं। कोरोना केयर सेंटर में 943 भर्ती हैं। इनमें सबसे ज्यादा नरेला में 507 हैं। यहीं मरकज के लोगों को भी रखा गया है।

कंटेनमेंट जोन की संख्या 99 पहुंची

दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या 99 हो गई है। सोमवार को दक्षिण जिला के महरौली और नई दिल्ली के पिलंजी गांव में नया कंटेनमेंट जोन बनाया गया जिसके बाद कंटेनमेंट जोन की संख्या दिल्ली में 99 पहुंच गई है। अभी तक सिर्फ एक कंटेनमेंट जोन को बदलकर ग्रीन जोन बनाया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
स्वास्थ्यकर्मी इन दिनों घंटों काम करके मरीजों की जान बचा रहे हैं। राजधानी के एक कोविड-19 टेस्टिंग सेंटर में काम करने के दौरान एक डॉक्टर बेहोश हो गया। उसके साथी काफी कोशिशों के बाद उसे होश में लाए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3eWc1Cm
via IFTTT

No comments:

Post a Comment